Pages

नवीनतम्:

Tuesday, January 3, 2012

श्रीबेगसरबालाजी स्वर्णजयंति महोत्सव : प्रथम् दिवस


....जो समस्या का सामना करेगा वहीं समाधान तक पहुंचेगा
कलशयात्रा के साथ होगा पांच दिवसीय महोत्सव का शुभारम्भ, पं. मेहता का व्याख्यान

समस्याएं किसके जीपन में नहीं होती। हर एक किसी ना किसी संकट से गुजरता ही है। जो समस्या का सामना करेेगा वही समाधान तक पहुंचेगा। ये बात पं. विजयशंकर मेहता ने कही। 

जीवन प्रबन्धन सूत्र के प्रणेता पं. विजयशंकर मेहता मंगलवार को श्रीबेगसरबालाजी मन्दिर के स्वर्णजयंति महोत्सव के पहले दिन किष्किंधाकांड पर व्याख्यान दे रहे थे। मन्दिर में आयोजित महोत्सव के तहत हनुमद् त्रिवेणी कार्यक्रम में अपने प्रवचन में उन्होनें कहा कि किष्किंधाकांड में हर पात्र परेशान है। सभी ने अपनी व्यक्तिगत, पारिवारिक, सामाजिक तथा राष्ट्रीय समस्याओं का समाधान यहीं खोजा है। उन्होनें बताया कि आज हम सब भी ऐसी समस्याओं से जूझ रहे है। बजरंगबली हनुमानजी ने अपनी जीवन शैली और निर्णयों से हमें मार्गदर्शन दिया है कि हर समस्या का समाधान रहता है और वह हमारे भीतर ही होता है। 

पं. मेहता ने अपने प्रवचन में कहा कि कोई धर्म या अध्यात्म यह नहीं कहता कि भौतिकजीवन नहीं जीया जाए। हनुमानजी अपने चरित्र से हमें बताते है कि खूब कमाएं, लेकिन हमारी कमाई में परमात्मा भी हो। खूब खर्च करें लेकिन समाज और राष्ट्र के लिए भी हिस्सा रखें।
कलशयात्रा में उमड़ी श्रद्धा
श्रीबेगसर इससे पूर्व मंगलवार सुबह आयोजित कलशयात्रा से स्वर्णजयंति महोत्सव का आगाज हुआ। ग्राम की श्रीगोपालकृष्ण गौशाला से शुरू हुई कलशयात्रा बेण्डबाजों की धूम के साथ ग्राम केे विभिन्न मार्गों से होकर मन्दिर पहुंची। जहां पर पूजा अर्चना के साथ महोत्सव का शुभारम्भ किया गया।
आज के कार्यक्रम
स्वर्णजयंति महोत्सव के दूसरे दिन बुधवार को सुबह ७ बजे योगसत्र में हनुमानचालीसा के साथ ध्यान का अभ्यास कराया जाएगा। मन्दिर में ९ बजे से आयोजित गायत्री परिवार द्वारा हनुमत गायत्री यज्ञ में लोककल्याण के निमित्त आहूतियां दी जाएगी। मध्याह्न १ से ४ बजे तक पं. मेहता का सुन्दरकाण्ड से सफलता के सूत्र विषयक प्रवचन होगा। जबकि सायं ७ बजे से सामूहिक संगीतमय सुन्दरकाण्ड पाठ का आयोजन होगा। 














No comments:

Post a Comment